Nagaur Fort Nagaur Rajasthan

Nagaur Fort is a world famous Historical Monument in Rajasthan located in Nagaur is a City of Rajasthan under Nagaur District, India, Lat Long of Nagaur Fort is 27°11’56.5″N 73°44’17.4″E and address of Nagaur Fort is The Nagaur Fort Bhandariyon Ki Gali, Nagaur, Rajasthan 341001, Nagaur Fort is only 138 km North East side from Jodhpur Airport, As per the historians some part of Nagaur Fort was rebuilt by Mohammed Bahlim in 12th century he was Governor of Ghaznivites that time, while this fort was initially built by Nagavanshis king in 2nd century. [Also know about Kuchaman Fort in Nagaur Rajasthan]

Facts about Nagaur Fort

 

Name Nagaur Fort
City Nagaur
Address The Nagaur Fort Bhandariyon Ki Gali, Nagaur, Rajasthan 341001
District Nagaur
State Rajasthan
Country India
Continent Asia
Time to visit 8AM–5PM
Coordinate 27°11’56.5″N 73°44’17.4″E
Per year visitors Private property
Visitors [y] 30000-100000
Near by Airport Jodhpur Airport
Nagaur Fort Contact Numbers Phone:01582-244-816

Where is Nagaur Fort Located in Rajasthan, India

Location of Nagaur Fort Located in Rajasthan India on Google Map

History of Nagaur Fort in Hindi

नागौर किला राजस्थान के अन्य किलों की तरह ही पहाड़ पर बना हुआ है, इसका निर्माण सम्भवतया सुरक्षा के दृष्टिकोण से ही करवाया गया होगा, इस किले को सबसे पुराना किला माना जाता है क्युकी ये दूसरी शताब्दी में बना हुआ है। यह किला राजस्थान के जिलों में एक एक नागौर जिले में बना हुआ है, सुरक्षा के लिए इस किले में कई पड़ाव है, जैसे पहला पड़ाव है सलाखे जिनमे मस्त हांथी घूमते रहते है, इसके बाद है बीच का पोल और आखरी पड़ाव है कचेरी पोल, एक दुश्मन के लिए इतना सबकुछ पार कर पाना संभव नहीं है।

नागौर का किला

इस नागौर किले का निर्माण तत्कालीन नागवंशी राजाओ ने करवाया था और इसके बाद १२वी शताब्दी में इस किले का पुनर्नर्माण मुहम्मद बहलीम ने करवाया जो की उस समय ग़ज़नीवित का गवर्नर था, इसके बाद जब मुघलो का समय आया तो इस किले का पुनर्निर्माण करवाया तभी इसमें मुगल शैली का निर्माण हुआ और कई महल बने जिनमे मुगल गार्डन, हादी रानी महल, बखत सिंह पैलेस, दीपक महल, अकबरी महल, अमर सिंह महल इत्यादि बने, इस समय इसका निर्माण अकबर और शाहजहां ने करवाया था।