Aligarh Fort Aligarh Uttar Pradesh

Aligarh Fort is a world famous Historical Monument in Uttar Pradesh, located in Aligarh a City of Uttar Pradesh under Aligarh City in Aligarh District, India, Lat Long of Aligarh Fort is 27.9284684°N 78.0571125°E and address of fort is Aligarh Fort, Qila, Aligarh, Uttar Pradesh 202001, Aligarh Fort is also known as “bohne chor ka qila” in English it can be say ‘small thief’s fort’, the fort was initially built by Muhammad, son of Umar the governor of Kol, in 1524-25.

Facts about Aligarh Fort

Name Aligarh Fort
City Aligarh
Address Qila, Aligarh, Uttar Pradesh 202001
Country India
Built by Muhammad, son of Umar the governor of Kol
Came in existence 1524-25
Area covered in KM 203 kilometres (126 mi)
Height 32 feet height
Time to visit 8AM-6PM
Ticket time 8AM-6PM
Ref No of UNESCO NA
Coordinate 27.9325° N, 78.0615° E
Per year visitors 1 lakh
Near by Airport Agra international airport
Near by River Yamuna rivers.

Where is Aligarh Fort Located in Uttar Pradesh, Aligarh, India

Location of Aligarh Fort Located in Uttar Pradesh, Aligarh India on Google Map

History of Aligarh Fort in Hindi

अलीगढ़ का किला उत्तर प्रदेश के जिले में एक किला है, यह अलीगढ में है जो की अलीगढ जिले में आता है स्थित है, इसे १५२५ में तत्कालीन लोदी साम्राज्य में कोल के गवर्नर उम्र के बेटे मुहम्मद ने बनवाया था इसके बाद साबित खान जो की फारुख सियार और मुहम्मद सियार के समय में उत्तर प्रदेश के गवर्नर थे उन्होंने इसका पुनर्निर्माण करवाया था। इस किले पर मराठो का अधिपत्य रहा और वर्तमान समय में यहाँ पर एक प्राथमिक स्कूल चल रहा है।

अलीगढ का किला

अलीगढ़ के किले का महत्व १७५९ में जब माधवराव सिंधिया प्रथम मराठा साम्राज्य के अधिपति थे तब सबसे अधिक रहा था क्युकी इसी अलीगढ के किले में वो अपनी सेनाओ का फ़्रांसिसी सेनिको के द्वारा एउरोपियन तर्ज पर प्रशिक्षण दिलवाते थे, जो प्रमुख प्रशिक्षक था उसका नाम बेनोइट दे बोइने था, अलीगढ का किला अल्ल्य घुर के युद्ध में मराठो के हाथो से निकल कर अंग्रेजो के हाथो में चला गया था, जिसे गेनार्ड लेक के फ़्रांसिसी अधिकारी पेरन के नेतृत्व में १८०३ में अधिगृहित किया गया था, १८५७ के स्वतंत्रता संग्राम के समय भी अलीगढ का किला महत्वपूर्ण रहा।

अलीगढ का किला अलीगढ मुस्लिम विश्वविधयालय के उत्तरी दिशा में है और अलीगढ की किले की वर्तमान समय में देख रेख की जिम्मेदारी भी अलीगढ विश्वविद्यालय की ही है और इसके बहुत से भागो का प्रयोग विश्वविद्याल अपनी वनस्पति विज्ञानं के विभागों के रूप में कर रही है।

यह किला बहुत से शासको का शासन देख चूका है, जन्म साबित खान, महाराजा सूरजमल १७५३ में, माधवराव सिंधीअ १७५९।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *